Shayari – 5


काफ़ी मुद्दतों बाद…

तन्हाई में याद किया तुमको,

पर तुमने तो मुझे अपने दिल ओ दिमाग से ही निकाल दिया।

– Ashish Kumar